"दुनिया भर में, सभी विकास स्तरों के देशों में, लाखों नौकरियां और व्यवसाय एक मजबूत और संपन्न पर्यटन क्षेत्र पर निर्भर हैं। पर्यटन प्राकृतिक और सांस्कृतिक विरासत की रक्षा करने, आने वाली पीढ़ियों के आनंद के लिए उन्हें संरक्षित करने में एक प्रेरक शक्ति भी रहा है"

श्री ज़ुराब पोलोलिकाश्विली
यूएनडब्ल्यूटीओ के महासचिव 

यूएनडब्ल्यूटीओ कार्यक्रम